Monday , May 27 2019
Loading...

सवाल पर भड़के अय्यर ने पत्रकारों को दी गाली

अपने बयानों के कारण अक्सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar) पीएम मोदी को लेकर लिखे गए लेख के बारे में पूछे गए सवाल पर आपा खो बैठे। 2017 में मणि शंकर अय्यर ने पीएम मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया था। इसके दो साल बाद अय्यर ने अपने इस बयान को सही ठहराया है। पंजाब सरकार के गेस्ट हाउस पहुंचे मणिशंकर अय्यर से जब कुछ पत्रकारों ने लेख को लेकर सवाल किया तो वे इस कदर भड़के कि पत्रकार को मारने के लिए हाथ उठा लिया और इस दौरान अपशब्द कहे।

‘आई विल हिट यू’, पत्रकार से बोले अय्यर
अय्यर ने कहा, ‘क्या आप नहीं जानते कि भारत में एक व्यक्ति है, नरेंद्र मोदी। आपने उनके तीखे हमलों के बारे में नहीं सुना। जाइए और उससे सवाल पूछिए। नहीं, वे आपसे बात नहीं करते क्योंकि वे डरपोक हैं। वे मीडिया से बात नहीं करते।’ इसके बाद पत्रकार के सवाल करते ही वे भड़क उठे और मुट्ठी दिखाते हुए धमकाने लगे और बोले- ‘आई विल हिट यू’। इस बीच पत्रकार ने उनसे सॉरी भी कहा लेकिन अय्यर ने माइक्रोफोन को दूर करने के लिए उसपर हाथ भी मारा। पत्रकार ने कहा, सर नाराज मत होइए, लेकिन अय्यर बोले, मैं नाराज हूं क्योंकि तुमने गलत सवाल किया है, ऐसे सवाल करते हो।’ इसके बाद अय्यर पत्रकार को अपशब्द कहते हुए वहां से निकल गए।’

इसके पहले, पीएम नरेंद्र मोदी को एक बार फिर ‘नीच किस्म का आदमी’ बताने वाले अपने लेख पर कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने सफाई देने से इनकार कर दिया था। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि 9 दिन में देश की सरकार बदलने वाली है और उन्हें अपने लेख पर किसी तरह की सफाई देने की जरूरत नहीं है। मणिशंकर अय्यर ने खुद को मीडिया का शिकार बताया और कहा कि इसकी वजह से उनकी छवि को नुकसान हुआ।

मैं उल्लू हूं लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं- अय्यर
मणिशंकर ने कहा कि मैने एक पूरा लेख लिखा और मीडिया उस लेख में से सिर्फ एक लाइन उठाकर पूछ रहा है कि इसपर बयान दो, ”मैं इस तरह के खेल में शामिल नहीं होना चाहता, मैं उल्लू हूं लेकिन इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं”। दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे दिए गए अपने विवादास्पद बयान ‘नीच किस्म का आदमी’ को सही ठहराते हुए एक लेख लिखा है जिसपर सियासत गरमा गई है।

मीडिया पर भड़के अय्यर
अय्यर ने कहा था कि मेरे 7 दिसंबर, 2017 को दिए बयान के एक शब्द के साथ एक और शब्द जोड़कर मीडिया में बार-बार दिखाते रहे। जबकि पूरे बयान को कभी नहीं दिखाया गया। कोई झूठ बार-बार बोला जाए तो सच समझा जाने लगता है। उन्होंने कहा था, ‘मैं मीडिया और षड्यंत्र का शिकार हुआ और आज मुझे एआईसीसी से किसी भी प्रकार का बयान मीडिया में देने से रोका गया है।’

नहीं देनी कोई सफाई- कांग्रेस नेता
मणिशंकर अय्यर ने शिमला में कहा कि मुझे अपने लेख को लेकर जवाब देने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस ने इस बारे में बयान जारी कर दिया है। अय्यर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने अटल बिहारी वाजपेयी को विदेशी दौरे में भारत का प्रतिनिधित्व करने को भेजा था। 1950 का दौर राजनीति का बेहतरीन दौर था। अय्यर ने ये भी कहा कि कांग्रेस ने उनके बयान पर सफाई दे दी है और अब उनको इस पर कोई सफाई नहीं देनी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *