Sunday , February 24 2019
Loading...

अपने स्वाभिमान के साथ कोई समझौता नहीं करेगी यह पार्टी

आगामी लोकसभा चुनाव के चलते कांग्रेस पार्टी  सीपीआईएम लेफ्ट फ्रंट साथ आते दिखाई दे रहे हैं. पश्चिम बंगाल में दोनों ही पार्टियां एक साथ मिलकर चुनाव में उतर सकती हैं. माना जा रहा है कि लेफ्ट यहां कि तमाम 42 सीटों पर चुनाव ना लड़े इसका कारन यह है कि, वह चाहता है कि बीजेपी (भाजपा)  टीएमसी विरोधी वोटों को अधिक से अधिक हासिल किया जाए.

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस पार्टी  सीपीएम के नेता इस बात को सुनिश्चित करने में लगे हुए हैं कि, दोनों ही दलों के मध्य साझेदारी हो जाए. यही नहीं कांग्रेस पार्टी आला कमान इस बात की भी आशा कर रहा है कि टीएमसी के साथ भी उसकी दाल गल जाए. वहीं केरल में सीपीएम कांग्रेस पार्टी के विरूद्ध सीधी मुक़ाबला के लिए चुनावी मैदान में है. सूत्रों की मानें तो टीएमसी कांग्रेस पार्टी के साथ साझेदारी करने के मूड में नहीं है. किन्तु शुक्रवार  शनिवार को सीपीएम के नेताओं के बीच मीटिंग हुई टी ही. वहीं राहुल गांधी ने भी पीसीसी अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी के नेताओं के साथ मीटिंग की थी.

इन बैठकों के बाद पश्चिम बंगाल कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने बताया है कि कांग्रेस, लेफ्ट के साथ साझेदारी करने की ख़्वाहिश रखती है, हालांकि पार्टी अपने स्वाभिमान के साथ कोई समझौता नहीं करेगी. कांग्रेस पार्टी  सीपीएम के बीच दूरी कम होती इसलिए भी दिखाई दे रही है क्योंकि केरल सीपीएम के नेताओं ने भी कांग्रेस पार्टी के विरूद्ध अपने तेवर में कमी लाएं हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *