Wednesday , January 16 2019
Loading...
Breaking News

एक बार चार्ज होने पर 300 किमी तक की दूरी तय करने में सक्षम होगी यह इलेक्ट्रिक व्हीकल

वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर  ऑयल की कीमतों में होने वाले इजाफे को ध्यान में रखते हुए इन दिनों गवर्नमेंट इलेक्ट्रिक वाहनों पर ध्यान दे रही है इसकी एक बानगी में भी देखने को मिली जब वाहनों के इस मेले में इलेक्ट्रिक बाइक, इलेक्ट्रिक कार के अतिरिक्त बिजली से चलने वाली बस भी पेश की गई

Loading...

लेकिन बिजली से चलने वाले वाहनों की कल्पाना के बीच कई बार इन्हें चार्ज करने  चार्ज करने के बाद लंबी दूरी तय नहीं करने की समस्या के बारे में बात होती है पिछले दिनों हुंदई की के बारे में मीडिया रिपोर्टस में बताया गया कि यह एक बार चार्ज होने पर 300 किमी तक की दूरी तय करने में सक्षम है कोना की समाचार को पाठकों की तरफ से भी जबरदस्त रिएक्शन मिली

loading...

लिथियम- आयन बैटरी से 10 गुना ज्यादा पावर
इलेक्ट्रिक वाहनों के एक बार चार्ज करने के बाद ज्यादा लंबी दूरी तक नहीं करने को ध्यान में रखते हुए अब वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित करने का दावा किया है जिससे एक बार चार्ज करने पर वाहन 800 किमी तक की दूरी तय कर सकता है यानी अब इलेक्ट्रिक कार एक बार चार्ज करने पर 800 किमी तक की दूरी तय करने में सक्षम है अमेरिका की इलिनोइस यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि लिथियम-एयर बैटरी वर्तमान में प्रयोग हो रहे लिथियम- आयन बैटरी के मुकाबले 10 गुना ज्यादा ऊर्जा संग्रहित कर सकती हैंसाथ ही यह हल्की भी है हालांकि अभी इसको विकसित करने की प्रक्रिया प्रायोगिक चरण में है

वैज्ञानिकों का कहना है कि लिथियम-एअर बैटरी ज्यादा प्रभावी है  2 D वस्तुएं से बने उन्नत उत्प्रेरकों (कैटलिस्टों) को शामिल करने के साथ ही वह ज्यादा चार्ज भी उपलब्ध करा सकती हैं ये उत्प्रेरक बैटरी के भीतर होने वाली रासायनिक रिएक्शन की दर को तेज कर सकते हैं  जिस प्रकार के पदार्थ से ये उत्प्रेरक बनें हैं, उसके आधार पर वह ऊर्जा को संग्रहित करने एवं ऊर्जा उपलब्ध कराने की बैटरी की क्षमता को महत्त्वपूर्ण ढंग से बढ़ाने में मदद कर सकते हैं

वैज्ञानिकों ने ऐसी कई 2डी वस्तुओं का संश्लेषण किया जो उत्प्रेरक के तौर पर कार्य कर सकती हैं  पाया कि पारंपरिक उत्प्रेरकों से मिलकर तैयार की गई लिथियम- एयर बैटरी के मुकाबले इन उत्प्रेरकों से बनी बैटरी 10 गुना ज्यादा ऊर्जा संग्रहित कर सकती हैं यह अध्ययन ‘एडवांस्ड मेटेरियल्स’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है

 

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *