Wednesday , January 16 2019
Loading...
Breaking News

मणिपुर पर जीत के बावजूद भी रणजी ट्रॉफी में आगे नहीं बढ़ सकी यह टीम

रणजी ट्रॉफी में बिहार का सफर खत्म हो गया मणिपुर पर जीत के बावजूद बिहार की टीम रणजी ट्रॉफी में आगे नहीं बढ़ सकी ट्रॉफी के इस सत्र में बिहार के गेंदबाज आशुतोष अमन ने अपनी सफलता का ऐसा परचम लहराया कि पुराने रिकॉर्ड भी ध्वस्त हो गए आशुतोष अमन ने इस रणजी सत्र में 68 विकेट लिए जो किसी भी रणजी सत्र में एक खिलाड़ी की तरफ से लिए गए रिकॉर्ड को पीछे छोड़ गया जो इससे पहले  भारतीय टीम के   के नाम था

Loading...

बेदी ने वर्ष 1974-75 में 64 विकेट हासिल किए थे इसका रिकॉर्ड अब बिहार के गेंदबाज आशुतोष अमन ने तोड़ा जी मीडिया से वार्ता में आशुतोष अमन ने बोला कि बिशन सिंह बेदी से तुलना नहीं की जा सकती लेकिन उहोंने बेदी को हमेशा फ़ॉलो किया अमन ने इस सीजन की 14 पारियों में 6.48 के औसत से 68 विकेट लेकर 44 वर्ष पुराना रिकॉर्ड तोड़ा अमन से पहले यह रिकॉर्ड हिंदुस्तान के महान स्पिनर बिशन सिंह बेदी के नाम था बेदी ने वर्ष 1974-75 में 64 विकेट लेकर यह रिकॉर्ड बनाया था

loading...

अमन, जो इंडियन एअर फोर्स के कर्मचारी हैं, ने रणजी ट्रॉफी में बिहार  मणिपुर के बीच हुए मैच में सात विकेट लेने के साथ सीजन समाप्त किया इस तरह उनके खाते में सीजन के कुल 68 विकेट हो गए अमन ने कहा, मुझे बहुत ज्यादा अच्छा महसूस हो रहा है कि मैं रिकॉर्ड तोड़ सका मैं जानता हूं कि बिशन सर से मेरी कोई तुलना नहीं हो सकती, वे महान हैं रहेंगे मेरे लिए यह उपलब्धि हासिल करना ही बड़ी बात है मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं टीम का कप्तान बनूंगा या इतने विकेट ले पाउंगा मेरी प्राथमिकता यही थी कि इस सीजन में टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करूं मैं सोच रहा था कि 40 विकेट  बल्ले से कुछ रन बना लूं तो यह सीजन अच्छा होगा ”

आशुतोष को उनके साथियों ने रिकॉर्ड के बारे में तब बताया जब ने 50 विकेट लेने वाले थे तब दो रणजी मैच टीम को  खेलना था आशुतोष को तब लगने लगा था कि वे चार पारियों में इस मुकाम पर पहुंच सकते हैं

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *