Tuesday , March 26 2019
Loading...

स्पीड में पास हुई Train 18 में पाई गई यह कमी

पास परीक्षण के बाद ट्रेन-18 को चलाने की तैयारी की जा रही है परीक्षण के दौरान यह ट्रेन 180 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से दौड़ी थी जो अब तक हिंदुस्तान के इतिहास में सबसे ज्यादा है लेकिन, ट्रेन से जुड़ी एक बुरी समाचार आ रही है इस ट्रेन में स्थान की बहुत ज्यादा कमी है, जिसकी शिकायत IRCTC ने की है IRCTC का कहना है कि कम स्थान होने की वजह से कैटरिंग के लिए स्पेस नहीं है ऐसे में यात्रियों को उनकी पसंद का खाना कैसे मिल पाएगा

आईआरसीटीसी के एक सूत्र ने कहा, ‘‘ट्रेन में राजधानी में उपलब्ध जगह की एक तिहाई स्थान ही थी इस बारे में इंट्रीग्रल कोच फैक्ट्री को बता दिया गया है  वे डिब्बे में परिवर्तन की प्रक्रिया में हैं ’’सूत्रों के मुताबिक समाचार है कि, ट्रेन में स्थान की कमी को देखते हुए सीट की संख्या में कमी की जा सकती है अभी तक ट्रेन में मिलने वाले खाने को लेकर मेनु भी फाइनल नहीं हो पाया है IRCTC ने रेलवे से अपील की है कि हम चाहते हैं कि ट्रेन-18 में यात्रियों को भिन्न-भिन्न प्रकार का खाना मिले

बता दें, ट्रेन 18 दिल्ली से वाराणसी के बीच चलेगी यह ट्रेन आठ घंटों में दिल्ली से वाराणसी की दूरी तय करेगी अब तक दोनों शहरों के बीच चलने वाली सबसे तेज गति वाली ट्रेन साढ़े ग्यारह घंटे का समय लेती हैं इस ट्रेन में वाई-फाई, सीसीटीवी कैमरों के साथ अंतर्राष्ट्रीय मानकों की सुविधाएं होंगी  इसमें कोई इंजन नहीं है यह ट्रेनसेट है यह 160 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम गति के साथ 750 किलोमीटर की दूरी तय करेगी

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *