Thursday , December 13 2018
Loading...

बीजेपी को मिला 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा का राजनीतिक चंदा

सत्ताधारी बीजेपी को वित्तीय साल 2017-18 के दौरान 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा का राजनीतिक चंदा मिला है. जानकारी के अनुसार बता दें कि यह आकंड़े चुनाव आयोग को पार्टी द्वारा सौंपे गए वार्षिक रिटर्न में सामने आए हैं.

Loading...

वहीं बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले जहां बीजेपी सबसे धनी पार्टी के तौर पर उभरी है वहीं राष्ट्र की चार अन्य राजनीतिक पार्टियों को भी मार्च 2018 तक आर्थिक फायदा मिला है.

loading...

यहां हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि 2016-17 के दौरान जहां मायावती के नेतृत्व वाली बसपा का खज़ाना 681 से बढ़कर 717 करोड़ रुपये हो गया है. वहीं ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी का खज़ाना 262 से 291 करोड़ रुपये हो चुका है. इसके साथ ही हिंदुस्तान की दो कम्युनिस्ट पार्टियां जो बेशक राष्ट्र की पॉलिटिक्स में हाशिये पर है उनके खज़ाना में भी इजाफा हुआ है. बता दें कि 2017-18 के दौरान कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया मार्कसिस्ट के खज़ाना में 104 करोड़ रुपये है. यह बीजेपी की वार्षिक आय का 10 फीसदी है.इसके अतिरिक्त कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के खज़ाना में 1.5 करोड़ रुपये हुए हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी  राष्ट्रवादी कांग्रेस एनसीपी ने अभी तक चुनाव आयोग के पास अपनी वार्षिक रिटर्न जमा नहीं करवाई है. जबकि नियमों के अनुसार सभी मान्यता प्राप्त, पंजीकृत पार्टियों के लिए ऐसा करना जरूरी है. बता दें कि बीजेपी को इस वर्ष 2 जनवरी को हिंदुस्तान गवर्नमेंट द्वारा अधिसूचित चुनावी बांड से 210 करोड़ रुपये का भाग भी मिला है.दूसरे शब्दों में उसने सार्वजनिक एरिया के बैंकों द्वारा जारी किए गए 222 करोड़ रुपये के बांड में से 95 फीसदी हासिल किया.

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *