Monday , May 27 2019
Loading...
Breaking News

अपनी पार्टी पिछले विरोध प्रदर्शनों के लिए नही दिया कोई स्पष्टीकरण

 महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे ने रविवार को बोला कि यूपी  बिहार से यहां आये लोगों को अपने-अपने राज्यों में नेताओं से वहां विकास के अभाव पर सवाल पूछना चाहिए ठाकरे ने मुंबई में रह रहे उत्तर हिंदुस्तानियों के एक संगठन ‘उत्तर इंडियन मंच’ द्वारा आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुये यह कहा, जहां ठाकरे ने संभवत: पहली बार हिंदी में सम्बोधन दिया उन्होंने बोला कि वह अपनी पार्टी के पिछले विरोध प्रदर्शनों के लिए कोई स्पष्टीकरण देने नहीं आये हैं, बल्कि हिंदी में अपने विचार रखने आए हैं ताकि वह बड़ी संख्या में लोगों तक अपनी बात पहुंचा सकें ठाकरे ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों ने राष्ट्र को वर्तमान पीएम नरेंद्र मोदी (जो वाराणसी से सांसद हैं) सहित कई पीएम दिए हैं

आप में से कोई उनसे (नेताओं से) नहीं पूछते कि क्यों राज्य औद्योगीकरण में पीछे छूट रहा है  क्यों वहां कोई रोजगार नहीं मिल रहा है ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुंबई आने वाले लोगों में अधिकतर लोग यूपी, बिहार, झारखंड  बांग्लादेश से हैं मैं सिर्फ यह चाहता हूं कि अगर लोग आजीविका की तलाश में महाराष्ट्र आ रहे हैं, तो उन्हें लोकल भाषा  संस्कृति का सम्मान करना चाहिए ’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब भी मैं अपना पक्ष रखता हूं जिससे उत्तर प्रदेश  बिहार के लोगों के साथ टकराव हो जाता है, तो हर कोई मेरी आलोचना करता है लेकिन हाल में गुजरात में बिहारी लोगों पर हुये हमलों के बाद, किसी ने भी सत्तारूढ़ दल (भाजपा) या पीएम (जिनका गृह राज्य गुजरात है) से सवाल नहीं किया ’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसी तरह के विरोध असम  गोवा में भी हुये लेकिन मीडिया ने उसे कभी भी तरजीह नहीं दी  लेकिन मेरे विरोध को हमेशा ही मीडिया में बढ़ा-चढ़ाकर कर पेश किया जाता है ’’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *