Wednesday , November 14 2018
Loading...

जानिए दिवाली पर पूजा के लिए शुभ मुहूर्त कब है

दिवाली पर मां लक्ष्मी  कुबेर की पूजा का विशेष महत्व होता है ऐसे में महत्वपूर्ण है कि आप पूजन के शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें शुभ समय  विधि-विधान के अनुसार पूजा करने से आपके घर में हमेशा मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी हर बार की तरह इस बार भी दीपावली पूजन के लिए शुभ मुहूर्त है इस समय आप मां लक्ष्मी  ईश्वर गणेश की आराधना कर शुभ फल की प्राप्ति कर सकते हैं

Loading...

Image result for जानिए दिवाली पर पूजा के लिए शुभ मुहूर्त कब है

उपाय
– धन वृद्धि के लिए नारियल को चमकीले कपड़े में बांधकर अपने पूजा घर या तिजोरी में रखें ऐसा करने से आपके पास पैसों की कमी नहीं होगी
– दीपावली के दिन मां लक्ष्मी को दूध-चावल की खीर या दूध से बने पकवान का भोग अवश्य लगाएं
– दीपावली के दिन आप पूरे घर को भले ही कम सजाएं लेकिन भूल से भी मुख्य द्वार को सूना न छोड़ें दरवाजे पर बंदरवार  फूल आदि अवश्य लगाएं शाम के समय दीये जलाकर अंधेरा दूर करें
– दिवाली पर सूर्योदय से लेकर अगले दिन के सूर्य के उगने तक अखंड दीपक जलाएं, इससे आपको अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होगी
– मां लक्ष्मी की पूजा के साथ यह भी ध्यान रखें कि आप किसी स्त्री का अनादर न करें माना जाता है कि स्त्री के अनादर से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं  शुभ होता फल भी अशुभ हो जाता है

loading...

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मंत्र
ऊपर बताए गए नियमों के साथ ही आप मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए निम्नलिखित न मंत्रों का जाप भी अवश्य करें
– ऊं आद्यलक्ष्म्यै नम:
– ऊं विद्यालक्ष्म्यै नम:
– ऊं सौभाग्यलक्ष्म्यै नम:
– ऊं अमृतलक्ष्म्यै नम:
– ऊं कामलक्ष्म्यै नम:
– ऊं सत्यलक्ष्म्यै नम:
– ऊं भोगलक्ष्म्यै नम:
– ऊं योगलक्ष्म्यै नम:

इसके बाद इस मंत्र का उच्चारण करें 
ऊं अपवित्र: पवित्रोवा सर्वावस्थां गतो पिवा
य: स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं स बाह्याभ्यन्तर: 

– ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः

दिवाली पूजा के शुभ मुहूर्त
यूं तो इस दिन पूरा दिन ही शुभ माना जाता है आप दीपावली के दिन किसी भी समय पूजन कर सकते हैं लेकिन प्रदोष काल से लेकर निशाकाल तक समय शुभ होता है जो इस दिन बही बसना पूजन करने हैं उनको ही राहु काल का विचार करना चाहिए, जो लोग सिर्फ गणेश लक्ष्मी जी का पूजन करें उनको विचार नहीं करना चाहिए, क्योंकि अमावस्या तिथि पर राहु काल का दोष नहीं होता

अमावस्या तिथि प्रारंभ- 6 नवंबर 2018 रात 10:03 बजे, अमावस्या तिथि समाप्त- 7 नवंबर 2018 रात 9:32 बजे

मुहूर्त समय
प्रातः 8 बजे से 9:30 बजे तक प्रातः 10:30 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक दोपहर 1:30 बजे से सायंकाल 6 बजे तक सायंकाल 7:30 बजे से रात्रि 12:15 बजे तक

स्थिर लग्न
वृष सायंकाल 6:15 से रात्रि 8:05 तक सिंह रात्रि 12:45 से 02:50 तक वृश्चिक प्रातः 8:10 से 9:45 तक कुम्भ दोपहर 01:30 से 03:05 तक

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *