Wednesday , November 14 2018
Loading...

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाक पर तीखा हमला करते हुए लगाया आरोप

डोनाल्ड ट्रंप की अगुवाई वाली मौजूदा अमेरिकी गवर्नमेंट ने पाक को मिलने वाले आर्थिक पैकेज पर रोक लगाई तो पड़ोसी चाइना उसकी मदद को आगे आया है पाक के वित्त मंत्री असद उमर ने मंगलवार को बोला कि चाइना ने सहायता पैकेज के जरिये राष्ट्र की वित्तीय समस्या को दूर करने में उच्चस्तरीय मदद करने का वादा किया है पीएमइमरान खान की हाल ही में संपन्न हुई चाइना यात्रा के बारे में उमर ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ मीडिया को जानकारी दी दोनों ही मंत्री चाइना गए प्रतिनिधिमंडल का भाग थे उमर ने बोला कि चाइना के द्वारा जताई गई प्रतिबद्धता के बाद पाक के भुगतान संतुलन का मुद्दा प्रभावी तरीके से सुलझ गया है

Loading...

Image result for आखिर क्यों पाकिस्तान के प्रति नाराजगी जाहिर कर चुके हैं ट्रंप

पाकिस्तान के प्रति नाराजगी जाहिर कर चुके हैं ट्रंप
इसी वर्ष जुलाई में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाक पर तीखा हमला बोलते हुए आरोप लगाया था कि उसने गत 15 सालों में 33 अरब डॉलर की सहायता के बदले अमेरिका को ‘झूठ  धोखे’ के सिवा कुछ भी नहीं दिया है ट्रंप ने साथ ही यह भी बोला कि पाक ने आतंकियों को ‘सुरक्षित पनाहगाह’ मुहैया करायी पाक के विरूद्ध अब तक के सबसे कड़े हमले में ट्रंप यह इशारा देते हुए प्रतीत हुए कि वह पाक को दी जाने वाली सहायता रोक सकते हैं

loading...

ट्रंप ने कड़े शब्दों वाले ट्वीट में बोला था, “अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण तरीके से पाक को गत 15 सालों में 33 अरब डॉलर से अधिक की सहायता दी  उन्होंने हमारे नेताओं को मूर्ख सोचते हुए हमें ‘झूठ  धोखे’ के अतिरिक्त कुछ भी नहीं दिया ” उन्होंने इस साल के अपने पहले ट्वीट में कहा, ‘उन्होंने उन आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करायी जिनके विरूद्ध हम बहुत कम मदद के अफगानिस्तान में कार्रवाई करते हैं अब  नहीं ‘

अमेरिका ने IMF से मिलने वाले कर्ज पर भी लगाई थी लगाम
इसी वर्ष अगस्त में डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) से आग्रह किया है कि वह पाक की नयी गवर्नमेंट को भी किसी प्रकार का कर्ज न दे उसने चाइना के ऋणदाताओं को भुगतान के लिए किसी संभावित राहत पैकेज की मंजूरी के प्रति आगाह किया चाइना के बैंक चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के लिए धन दे रहे हैं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने बोला कि कोई गलती नहीं होनी चाहिए आईएमएफ जो करेगा उस पर हमारी निगाह है मीडिया में इस तरह की खबरें आई हैं कि पाक आईएमएफ से 12 अरब डॉलर का वजनदार पैकेज चाहता है पॉम्पियो से इसी बारे में पूछा गया था

चरमरा गई है पाक की अर्थव्यवस्था
पैसों की कमी के चलते पाक की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है पाक की आर्थिक वृद्धि की गति पिछले छह वर्ष में पहली बार सुस्त पड़ी है इस वित्त साल में इसकी वृद्धि 5.2 फीसदी रहने की उम्मीद है वहीं, वर्ष की आरंभ में इसके 6.2 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया था अगर आर्थिक वृद्धि दर निर्बल पड़ती है तो पाक कई वर्ष पीछे जा सकता है गवर्नमेंट ने अर्थव्यवस्था ने बोला है कि राजकोषीय दबाव  कृषि एवं निर्माण एरिया में मंदी के कारण वृद्धि पर प्रभाव दिखता है इससे पहले आईएमएफ ने भी आर्थिक वृद्धि अनुमान को घटाकर 4.7 प्रतिशत किया था

सिर्फ 10 सप्ताह तक का भंडार
पाक के पास जितनी विदेशी मुद्रा है, वो ज्यादा से ज्यादा 10 हफ्तों तक के आयात के बराबर है विदेशों में जॉब कर रहे पाकिस्तानी राष्ट्र में जो पैसे भेजते थे, उसमें भी गिरावट आई हैइसके साथ ही पाक का आयात बढ़ा है चीन-पाक इकोनॉमिक कॉरिडोर में लगी कंपनियों को भारी भुगतान के कारण भी विदेशी मुद्रा भंडार खाली हो रहा है

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *