Friday , November 16 2018
Loading...
Breaking News

प्रशांत महासागर में अल नीनो की मौजूदगी के मद्देनजर जताई गई संभावना 

मौसम विभाग ने अगले कुछ महीनों में प्रशांत महासागर में अल नीनो की मौजूदगी के मद्देनजर यह संभावना जताई हैविभाग ने प्रशांत महासागर में अल नीनो का असर दक्षिण में भूमध्य तटीय क्षेत्रों की ओर बढ़ने की संभावना के मद्देनजर इसका प्रभाव हिंदुस्तान में अगले दो से तीन महीनों के दौरान दिखने का अनुमान जाहीर किया है

Loading...

Image result for प्रशांत महासागर में अल नीनो की मौजूदगी के मद्देनजर जताई गई संभावना 

मौसम विज्ञानिकों के मुताबिक, अल नीनो के असर से समुद्री सतह का तापमान बढ़ने लगता है इसका असर तटीय इलाकों में गर्मी में इजाफे के रूप में दिखता है विभाग के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने बताया कि अरब सागर  प्रशांत महासागर में अल नीनो की मौजूदगी का असर हिंदुस्तान में सर्दी के दौरान तुलनात्मक रूप से तापमान में कम गिरावट के रुप में दिख सकता है उन्होंने बताया कि समुद्री जल के तापमान में इजाफे के लिये जिम्मेदार अल नीनो का प्रभाव धीरे-धीरे अरब सागर की ओर बढ़ रहा है

loading...

मौसम विभाग द्वारा जारी एक बयान में भी अल नीनो के हिंदुस्तान में इस वर्ष सर्दी के मौसम पर पड़ने वाले असर को स्वीकार करते हुये बोला गया है कि फिल्हाल यह हिंद महासागर से भूमध्य रेखीय क्षेत्रों की ओर अग्रसर है

अधिकारी ने बताया कि हिंदुस्तान के उत्तरी राज्यों में सर्दी के दौरान जनवरी माह में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश का संक्षिप्त दौर देखने को मिलता है यह बारिश तापमान में गिरावट की मूल वजह बनती है, लेकिन इस वर्ष अल नीनो के संभावित असर को देखते हुये पश्चिमी विक्षोभ पर भी प्रभाव पड़ सकता है इसकी वजह से सामान्य तौर पर होने वाली बारिश में कमी, तापमान में गिरावट को रोकने वाली साबित हो सकती है जिसका प्रभाव कम सर्दी के रूप में देखने को मिल सकता है

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *