Monday , April 23 2018
Loading...

EPFO ब्याज दर को रख सकता है स्थिर

वित्त साल 2017-18 में पीएफ पर ब्याज दर में परिवर्तन की कोई उम्मीद नहीं है  यह 8.65 प्रतिशत ही बनी रह सकती है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के ट्रस्टी की 21 फरवरी को होने वाली मीटिंग में इस पर मुहर लग सकती है.
Image result for EPFO ब्याज दर को रख सकता है स्थिर
5 करोड़ से अधिक अंशधारक
ईपीएफओ के अभी करीब 5 करोड़ सदस्य हैं. सूत्रों का कहना है कि ईपीएफओ ने इस वित्त साल के लिए मौजूदा ब्याज दर को बरकरार रखने के लिए इस महीने की आरंभ में 2886 करोड़ की मूल्य के ईटीएफ को बेच चुका है. संगठन ने 2016-17 के लिए 8.65 प्रतिशत ब्याज दर की घोषणा की थी, जबकि 2015-16 में यह 8.8 प्रतिशत थी.

ईपीएफओ इस वर्ष बनेगा पेपरलेस 
उमंग ऐप के जरिए पीएफ खाते की अद्यतन जानकारी रखना अब सरल हो गया है. वह समय दूर नहीं जब ईपीएफओ पूरी तरह से डिजिटल हो जाएगा  इससे जुड़ी सेवाओं का फायदा कहीं भी बैठकर लिया जा सकेगा.

इस साल ईपीएफओ को पूरी तरह पेपरलेस बनाने का लक्ष्य रखा गया है. नोएडा एपरैल एक्सपोर्ट कलस्टर की ओर से सेक्टर 15ए क्लब में आयोजित प्रोग्राम के दौरान केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त डॉ वीपी जॉय ने यह जानकारी दी

यह भी पढ़ें:   अब मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से किया जाएगा लिंक

15 हजार से कम सैलरी वालों को होगा लाभ

एपरैल प्रमोशन काउंसिल के योगदान से आयोजित इस प्रोग्राम में उन्होंने बोला कि नए रोजगार सृजित करने के लिए पीएम रोजगार प्रोत्साहन योजना में किए गए परिवर्तन के सकारात्मक प्रभावदिखाई देंगे. योजना के तहत 1 अप्रैल 2016 के बाद जिन कर्मचारियों को जॉब मिली है  यदि उनका वेतन 15 हजार या इससे कम है तो ऐसे कर्मचारियों के पीएफ की राशि पर तीन साल तक सब्सिडी दी जाएगी.

Loading...
loading...

नोएडा एपरैल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के अध्यक्ष ललित ठुकराल ने बोला कि पीएम रोजगार प्रोत्साहन योजना  पीएम परिधान प्रोत्साहन योजना से नए रोजगार को बढ़ावा मिल रहा है. इस उद्योग में गवर्नमेंट 12 प्रतिशत तक पीएफ का सहयोग करेगी, जिससे एपरैल सेक्टर से जुड़े उद्योगों में रोजगार की संभावनाएं विकसित होंगी.

ईपीएफओ की मदद से बना सकते हैं घर
केंद्रीय भविष्य निधि के अलावा आयुक्त गौतम दीक्षित ने पीएफ हाउसिंग स्कीम की जानकारी दी.क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त एनके सिंह ने ईपीएफओ की आसान सेवाओं के बारे में उद्यमियों को जागरूक किया. इस मौके पर उद्यमियों के सवालों का जवाब अधिकारियों ने दिया. प्रोग्राम में मिनिस्ट्री ऑफ टैक्सटाइल के क्षेत्रीय निदेशक वीके कोहली, अनिल पेशावरी सहित कई उद्यमी मौजूद रहे.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *