Monday , April 23 2018
Loading...

आखिर क्यों नीतीश ने उपचुनाव में लड़ने से किया साफ़ इनकार ?

पटनाः बिहार में लोकसभा की 1  विधानसभा की 2 सीटों के लिए होने वाले चुनावों में जेडीयू मैदान में खड़ी होगी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  जेडीयू के अध्यक्ष ने बोला है कि पार्टी की राज्य इकाई ने इस विषय में निर्णय किया किया है वह आगामी 11 मार्च को होने वाले उपचुनाव में जदयू के भाग नहीं लेगी नीतीश कुमार ने मीडिया को बताया, ‘राज्य की पार्टी इकाई का यह नीतिगत निर्णयहै कि मौजूदा सदस्य की मृत्यु से रिक्त होने के कारण खाली हुई सीटों के उपचुनाव में हम भाग नहीं लेंगे ‘

Image result for तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बोला कि, ‘नीतीश कुमार भाजपा के सामने नतमस्तक हो गए हैं ‘ तेजस्वी के अनुसार जेडीयू को किसी भी सीट पर चुनाव नहीं लड़ने दिया जाएगा बताइये, प्रदेश के CM की पार्टी की एक भी सीट पर लड़ने की औक़ात नहीं है जेडीयू में होगी भारी भगदड़, थोड़ा इंतजार का मजा लीजिए

नीतीश कुमार हुए भाजपा के सामने नतमस्तक.जदयू को किसी भी सीट पर नहीं लड़ने दिया जाएगा चुनाव. बताइये, प्रदेश के CM की पार्टी की एक भी सीट पर लड़ने की औक़ात नहीं है. जदयू में होगी भारी भगदड़. थोड़े इंतज़ार का मज़ा लीजिए.

अपने अगले ट्वीट में तेजस्वी यादव ने कहा,  ‘इंतजार कीजिए नीतीश कुमार जल्द ही जेडीयू का बीजेपी में विलय कर देंगे कुर्सी के बिना वह जीवित नहीं रह सकते इनकी तथाकथित सुशासन की फ़ाइल पीएमओ में रखी हुई है इसलिए भाजपा जल्दी ही इन्हें पहले दिल्ली भेजेगी, फिर कहीं का गवर्नर बना देगी जेडीयू के विधायक क्या करेंगे?’

loading...

इंतज़ार कीजिए, नीतीश कुमार जल्दी ही जदयू का बीजेपी में विलय कर देंगे. कुर्सी के बिना ये जीवित नहीं रह सकते. इनकी तथाकथित सुशासन की फ़ाइल PMO में रखी हुई है इसलिए भाजपा जल्दी ही इन्हें पहले दिल्ली भेजेगी, फिर कहीं का गवर्नर बना देगी. जदयू के विधायक क्या करेंगे??

गौरतलब है कि बिहार के अररिया लोकसभा सीट से आरजेडी के सांसद रहे मोहम्मद तस्लीमुद्दीन, जहानाबाद विधानसभा एरिया से आरजेडी विधायक रहे मुंद्रिका सिंह यादव  भभुआ विधानसभा एरिया से भाजपा विधायक रहे आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद इन सीटों के रिक्त होने पर गत 9 फरवरी को चुनाव आयोग द्वारा इन सीटों पर आगामी 11 मार्च को उपचुनाव कराए जाने की घोषणा की गई थी

इसके अतिरिक्त नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना में संवाददाताओं से अयोध्या टकराव से संबंधित एक प्रश्न का जवाब देते हुए नीतीश ने कहा,‘‘ हम लोग शुरु से कहते रहे हैं कि इसका निवारण आपसी समझौते  वार्ता से होना चाहिए  अगर नहीं हो पाता है तो न्यायालय के निर्णय से ही इसका निवारण हो पाएगा ’’ राष्ट्र में बेरोजगारी से संबंधित सवाल के जवाब में CM ने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट ने कौशल विकास प्रोग्राम चलाया है  रोजगार उपलब्धता के बारे में बोला है मोदी जी के नेतृत्व में राजग को केंद्र में कार्य करने का मौका मिला है वह चार वर्ष से कार्य कर रहे हैंअनावश्यक चीजों पर चर्चा नहीं होनी चाहिए, तथ्य  नीतियों पर बात होनी चाहिए

12 फरवरी (भाषा) बिहार के CM नीतीश कुमार ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के संघ के स्वयं सेवकों की तीन दिन में सेना तैयार करने संबंधी बयान का बचाव करते हुए आज बोला कि कोई नागरिक या नागरिक संगठन राष्ट्र की सीमा की रक्षा के लिए अगर अपनी तत्परता दिखाता है तो यह अच्छा है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *