Monday , April 23 2018
Loading...

10 रुपये में उपचार के नाम पर बांट रहा था HIV

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के बांगरमऊ एरिया में एक झोलाछाप चिकित्सक राजेंद्र यादव पर आरोप है कि इस झोलाछाप ने एक ही सिरींज से इंजेक्शन लगाकर एरिया के कई मासूम लोगों को HIV बांट दियाजिले के सीएमओ डॉ एस पी चौधरी ने बताया कि 17 जुलाई 2017 को उन्नाव के बांगरमऊ एरिया के 12 आदमी HIV पॉजिटिव पाए गए , उन लोगों द्वारा यह बताया गया कि उनके द्वारा एक झोलाछाप चिकित्सक से उपचार कराया गया था जो कि पिछले 10 वर्ष से एरिया के आसपास के लगभग 40 गांवों के लोगों का उपचार कर रहा है

बांगरमऊ स्टेशन रोड पर यादव क्लीनिक नाम से इस झोलाछाप का क्लीनिक था इस झोलाछाप चिकित्सक द्वारा एक ही सिरींज का इस्तेमाल कर इलाके के कई लोगों को HIV इंफेक्टेड कर दिया गया

76 मामले सामने आने पर डीएम ने मांगी रिपोर्ट
23 नवंबर 2017 को बांगरमऊ में एचआईवी के 13  मामले सामने आए पुनः 24,25  27 जनवरी को HIV के 33 नए मामले सामने आए वर्तमान में 76 लोग इसमें 6 बच्चे भी शामिल हैं HIV से पीड़ित बताये जा रहे हैं 
यह संख्या बढ़ भी सकती है उन्नाव के डीएम एनजी रवि कुमार ने इस मामले में सेहत विभाग के अधिकारियों की लापरवाही  आपराधिक कृत्य के लिए विस्तृत रिपोर्ट तलब की है 7 माह पहले हुई शिकायत के बाद भी कार्यवाही नहीं होने के कारण मामला शासन तक पहुंच गया है

loading...

यूपी के सेहत मंत्री ने मांगी रिपोर्ट
सेहत मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भी सीएमओ से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है सीएमओ के अनुसार सेहत मंत्री को इस मामले की रिपोर्ट दी जा चुकी है मामले की गंभीरता को देखते हुए बांगरमऊ मामले को विधानसभा में भी उठाया जा सकता है मामले के मीडिया में तूल पकड़ने  सेहत मंत्री द्वारा रिपोर्ट तलब किए जाने पर सेहतमहकमा हरकत में आया  ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए जिले के 73 झोलाछाप क्लीनिकों को सील किया है प्रशासन ने भी झोलाछाप डॉक्टरों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करा दी है

सीएमएस का कहना है-झोलाछाप ही नहीं है कारण 
चीफ मेडिकल सुपरवाइजर का कहना है कि एचआईवी संक्रमण का कारण सिर्फ झोलाछाप चिकित्सक न होकर अन्य कारण भी हो सकते हैं  संक्रमित पाए गए लोगों को कानपुर के एआरटी सेंटर पर उपचार के लिए भेजा गया है  जहां नवंबर 2017 से जनवरी 2018 के बीच 69 मरीज रजिस्टर्ड किए गए 

सस्ते उपचार के लिए लोग जाते थे क्लिनिक पर 
बताते चलें कि यह लोग उन्हीं तीन गांवों से संबंधित है जहां झोलाछाप चिकित्सक राजेंद्र ग्रामीणों का उपचार करता था यह झोलाछाप चिकित्सक बांगरमऊ के स्टेशन रोड स्थित यादव क्लीनिक से लोगों का उपचार करता था इसकी फीस 10 रुपये होने के कारण लोगों की बहुत भीड़ रहती थी  आरोपी झोलाछाप चिकित्सक को पुलिस द्वारा अरैस्ट किया जा चुका है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *